माउंट अबू गोवा मनाली का आनंद अब मिलेगा काशी में – Tent City Varanasi

Tent City Varanasi : आप वाराणसी आएं हों और गंगा घाटों पर भ्रमण ना किए हो यह हो ही नहीं सकता। घाटों पर बैठकर गंगा व काशी को निहारना हर किसी की मंशा होती है। और इस अभिलाषा को पूर्ण करने हेतु वाराणसी टेंट सिटी जनता को समर्पित है।

Tent City Varanasi
Tent City Varanasi

Varanasi : भारतवर्ष की सांस्कृतिक राजधानी काशी, सनातन धर्म के सप्तपुरीयों में सम्मिलित एक प्रमुख नगर है। यही कारण है कि वाराणसी आने के धर्म, दर्शन, जीवन, इतिहास, शांति अथवा मोक्ष जैसे एक नहीं अनेक कारण हैं।
और इनमें से कुछ भी होगी यदि आपकी आवश्यकता तो वाराणसी आपका स्वागत अब एक नवीन स्वरूप में करने को सज्ज है और वो भी अत्याधुनिक व लग्ज़री तंबूओं के नगर के रूप में।
वाराणसी के अस्सी से दशाश्वमेध घाट के सामने गंगा उस पार बसाई जा रही टेंट सिटी के लिए लगभग 100 एकड़ भूमि पर सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। और वाराणसी विकास प्राधिकरण (VDA) सहित 13 विभाग इसे मूर्त रूप देने में जुटे हुए हैं।

वाराणसी टेंट सिटी को बसाने का दायित्व दो फर्मों को दिया गया है। इनमें मेसर्स प्रवेग कम्यूनिकेशंस (इंडिया) व मेसर्स लल्लू जी एंड संस हैं। जिनमें पीपीपी मॉडल पर यहां अधिकतम 600 टेंट्स का निर्माण होना है।
Read Also
अब दुनिया देखेगी भारत की रफ़्तार Delhi Meerut RRTS

काशी को मिलने वाला है अत्याधुनिक घाट का भी बाप, सुपर घाट Namo Ghat 2.O Varanasi
कैसे होंगें वाराणसी टेंट सिटी में रहने वाले टेंट्स और होगी सुविधा यदि आप यह जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि इसमें चार प्रकार के टेंट्स हैं :-1. डीलक्स टेंट्स2. सुपर डीलक्स टेंट्स3. प्रीमियम टेंट्स4. गंगा दर्शन विला
वहीं इनमें रहने के लिए आपको कितना किराया चुकाना होगा यह भी बता दें कि इनकी आरंभिक कीमत 5000 रूपए से लेकर 20000 रूपए तक जाती है। तथा कई प्रकार के पैकेजों की व्यवस्था भी करी गई है जो आपकी सुविधाओं व अनुभव को और भी कई गुना बढ़ा देगा।

Varanasi Tent City
Varanasi Tent City

गुजरात के रन ऑफ कच्छ की तर्ज़ पर 13 जनवरी को टेंट सिटी की आरंभ हो रहा है। जाह्नवी के तट पर टेंट सिटी धर्म, अध्यात्म व संस्कृति के संगम का नया अध्याय होगा। टेंट सिटी में पूर्वांचल के कई उत्पाद भी दिखेंगे। लग्जरी होटल की सुविधा के साथ सभी टेंट का डेकोरेशन काशी के आसपास के हैंडीक्राफ्ट व अन्य उत्पादों से किया जा रहा है।
कैसे करें वाराणसी टेंट सिटी में बुकिंग यदि आप यह जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प है आॅनलाइन जिसके लिए आपको www.tentcityvaranasi.com पर विजिट करना होगा और आप अपने मनपसंद व आवश्यकतानुसार व तिथीवार इन टेंट्स का चयन कर सकते हैं।

क्या क्या मिलेंगी वाराणसी टेंट सिटी में सुविधाएं यदि यह आप जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें। इस वाराणसी टेंट सिटी में रिवर कॉटेज के साथ रेस्तरां, बैंक्वेट हॉल, योगा सेंटर, आर्ट गैलरी, क्राफ्ट बाजार सहित कई अन्य सुविधाएं होंगी। इसके अतिरिक्त यहां पर्यटक वॉटर स्पोर्ट्स, कैमल और हॉर्स राइडिंग का आनंद भी ले सकेंगे। यही नहीं पैकेज में खाने-पीने के साथ ही गंगा आरती, काशी विश्वनाथ मंदिर में वीआईपी दर्शन, लाइव म्यूजिक, सांस्कृतिक कार्यक्रम और नाव से गंगा दर्शन भी कर पाएंगे। बस इतना ही नहीं प्रत्येक भाग में स्पा और जिम की सुविधा भी होगी। लाइब्रेरी, आर्ट सेंटर, कामन कांफ्रेंस हाल, डायनिंग एरिया के साथ ही फ्लोटिंग स्वीमिंग पूल भी है।

Tent City Varanasi
Tent City Varanasi

भीतरी दृश्य दर्शाते हुए बता दें कि गंगा दर्शन विला यहां सबसे बड़ा है। इसे एक रात और दो दिनों के लिए प्रति व्यक्ति 20 हजार रुपये में बुक किया जा सकता है। लिविंग एरिया के साथ नदी के सामने वाले एसी विला में किंग-साइज बेड, हॉल और निजी बीच, प्लंज पूल, रजवाड़ी सोफा सेट, डाइनिंग टेबल, लैंप के साथ स्टडी टेबल, कुर्सी के साथ ड्रेसिंग टेबल, मिनी फ्रिज, टीवी सहित अन्य सुविधाएं गीजर, रूम हीटर, अलमारी और सुरक्षा लॉकर आदि है। तथा टेंट सिटी में हर विला के बाहर बड़े त्रिशूल भी लगाए गए हैं।

चूंकि काशी में गंगा स्नान की विशेष परंपरा है इसलिए पर्यटकों के लिए यहां सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ ही मां गंगा में आस्था की डुबकी लगाने का अवसर भी मिलेगा। फ्लोटिंग जेटी पर एक बड़ा पूल स्थापित किया है। इस पर लोग गंगा में पवित्र डुबकी लगा सकते हैं। फ्लोटिंग जेटी पर स्थित पूल एक समय में लगभग 25 लोगों को समायोजित कर सकता है।

Read Also
प्यारे भारत में बुलेट ट्रेन परियोजना ने पकड़ी अब तूफ़ानी रफ़्तार

कशी को बड़ी खुशखबरी, वाराणसी रोपवे परियोजना की शुरू हुई प्रक्रिया

टेंट सिटी को पर्यावरण के अनुकूल बनाने के लिए नो पॉल्यूशन जोन की नीति का पालन करते हुए बायो टायलेट लगाए गए। टेंट सिटी को नो प्लास्टिक जोन घोषित करते हुए इको फ्रेंडली तैयार किया जा रहा है। किसी प्रकार का कूड़ा बालू क्षेत्र में डंप नहीं होगा। पर्यटकों को पर्यावरण संरक्षण और क्षेत्र में पर्यावरण को ध्यान रखने की जानकारी दी जाएगी। इसके लिए स्थान स्थान पर साइनेज लगाने के अतिरिक्त जागरूकता मित्र भी तैनात किए जाएंगे।

आपको हम इसके ड्रोन व्यू दर्शाते हुए बता दें कि टेंट सिटी के मध्य में शिवालय बनेगा। शिव की महिमा का बखान करने वाले चित्र लगेंगे। साथ में माता पार्वती और गणेश भी दिखेंगे। पुराणों में वर्णित भगवान शिव के महात्म्य को भी चित्रों के माध्यम से उकेरने का प्रयास किया जाएगा। मंदिर में सुंदर सजावट के साथ मध्य में शिवलिंग रहेगा। टेंट सिटी के मध्य में एक भव्य मंच भी बनेगा।

Read Also
CM योगी की वृन्दावन धाम को बहुत बड़ी सौगात Banke Bihari Corridor

बन रहा है माता का नया धाम, CM योगी का ड्रीम प्रोजेक्ट Vindhya Corridor सुपर स्पीड में

वैसे देखा जाए तो टेंट में रहने के अनुभव को प्राप्त करने के लिए समानता है लोग किसी पहाड़ी पर जैसे कि शिमला मसूरी आदि पर जाते हैं तथा समुद्र किनारे बीच का आनंद लेने के लिए लोग समुद्र किनारे के नगरों में प्रवास करते हैं जैसे कि गोवा में। परंतु अब आपको वाराणसी में एक साथ दोनों प्रकार का अनुभव मिलने वाला है, जो आपको रोमांचित कर देगा। आप गंगा की अविरल धारा के किनारे रेत पर अपने लग्जरी टेंट्स में रात्रि विश्राम व काशी का अवलोकन के अतिरिक्त अन्य वाटर स्पोर्ट्स और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का अनुभव भी ले पाएंगे वो भी एक साथ।

आपको हम यह भी बता दें कि श्री काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर के उद्घाटन के पश्चात काशी में पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। साथ ही पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाओं पर भी कार्य हो रहा है। इसी क्रम में गंगा पार टेंट सिटी बसाने की परिकल्पना की गई थी। जिसे कि पहले शारदीय नवरात्र से वासंतिक नवरात्र तक इसे बसाए रखने की योजना थी, परंतु गंगा का जलस्तर लंबे समय तक ऊपर रहा। इससे उस समय योजना देव दीपावली तक भी मूर्तरूप नहीं ले सकी थी।

टेंट सिटी वाराणसी
Tent City Varanasi

बता दें कि यूपी सरकार के रिकॉर्ड के अनुसार 2022 में सात करोड़ (70 मिलियन) से अधिक पर्यटक काशी आए थे। और इसलिए सरकार की मंशा है कि पर्यटक काशी की धार्मिक और अध्यात्मिकता को भी आत्मसात करें। काशी की धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत को विश्व से परिचित कराने का ये एक नया प्रयोग है।
Read Also
ऐसा है नव्य अयोध्या का पहला परिवर्तन – Common Building Code Ayodhya

अयोध्या श्री राम मंदिर निर्माण पर निर्माण समिति का आया बड़ा निर्णय
बाबा विश्वनाथ के नगरी अर्थात काशी में आपने कई मंदिर देखे होंगे, कई बार घाट के किनारे भी बैठे होंगे, परन्तु कभी घाट के पास टैंट में रहने का आनंद लिया है? हां, संभवतः पहाड़ों में नहर के किनारे कैंपिंग का आनंद अवश्य लिया होगा, परन्तु कभी सोचा था कि बनारस में भी इसका आनंद लेने का अवसर मिलेगा, नहीं ना? हमने भी नहीं सोचा था। परंतु अब आप काशी व यहां के संपूर्ण घाटों का आनंद गंगा उस पार लग्ज़री टेंट सिटी से सीधा ले सकेंगे।

मित्रों हम आशा करते हैं कि आपको वाराणसी टेंट सिटी की जानकारी पसंद आई होगी, तो कमेंट बाॅक्स में हर हर महादेव अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं।
अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:-

वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *