Varanasi में Tent City परियोजना ने पकड़ी रफ़्तार, इस दिवाली से पहले मिलेगी बड़ी सौगात

विकास की नित्य नवीन पटकथा लिख रही काशी में इस वर्ष की देवदीपावली होगी और भी विशेष क्योंकि इस बार देव दीपावली के अवसर पर पर्यटकों को गंगा उस पार रामनगर रेती क्षेत्र में टेंट सिटी (Varanasi Tent City) में प्रवास की व्यवस्था मिलेगी।

यूपी की योगी सरकार ने नई पहल की है। जी हां,‌ मां गंगा किनारे अर्धचंद्राकार स्वरूप में बसी विश्व की प्राचीनतम जीवित नगर काशी (Kashi) अर्थात वाराणसी (Varanasi) के पर्यटन को मिलने वाली है नई संजीवनी, क्योंकि घाटों का नगर के रूप में विश्व विख्यात काशी के संपूर्ण घाटों की छटा एक बार में मिलेगा वो भी सूर्य की उगती किरणों के साथ।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सप्तपुरीयों में सम्मिलित काशी में दर्शनार्थियों व श्रद्धालुओं की संख्या‌‌ सदैव अधिक रहती है। तथा इस प्राचीन नगर के अल्हणपन जीवन का अनुभव करने हेतु भी कई पर्यटक यहां आते हैं एवं मोदी जी के वाराणसी का सांसद बनने के पश्चात तथा नित्य नवीन विकास कार्यों से नई अंगड़ाई लेती काशी में पर्यटकों व श्रद्धालुओं यह संख्या तीव्र गति से बढ़ रही है।

Tent City Varanasi
Varanasi Ganga River

इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने नवीन पहल की है जिसके अंतर्गत विश्व प्रसिद्ध वाराणसी के अस्सी घाट के ठीक सामने ही श्रद्धालु व पर्यटकों के लिए लग्ज़री सुविधाओं से लैस टेंट सिटी को बसाने का निर्णय लिया गया है।

बता दें कि गुजरात की कच्छ की तर्ज पर यहां वाराणसी में भी टेंट सिटी (Tent City) में रहने का अवसर प्राप्त होगा। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि इस दिशा में कार्य आरंभ हो गया है। यह देवदीपावली से पहले आकार भी ले लेगा। इस टेंट सिटी में पर्यटकों को स्पा, योगा, रेस्टोरेंट, लाइब्रेरी समेत कई सुविधाएं मिलेंगी।

अधिक जानकारी हेतु बता दें कि काशी में इस‌ परियोजना को वाराणसी विकास प्राधिकरण की ओर से गंगा पार रामनगर क्षेत्र में बनाने की तैयारी है।

वाराणसी टेंट सिटी परियोजना की वर्तमान परिस्थिति की जानकारी देने से पहले हम आपको इस टेंट सिटी के बारे बता दें कि वाराणसी के अस्सी घाट के ठीक सामने (रामनगर की ओर) यह टेंट सिटी परियोजना कुल 30 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में स्थापित होगा। इसमें दस हेक्टेयर प्रति कलस्टर में 200 टेंट होंगे। इस प्रकार से कुल तीन क्लस्टर स्थापित होंगे।

Also Read
यूपी के विकास की रखी गयी आधारशिला, पूर्वांचल को बड़ी सौगात

अयोध्या की नई पहचान स्मृति चौक का CM योगी द्वारा उद्घाटन

इसपर अधिक जानकारी हेतु बता दें कि टेंट सिटी में तीन प्रकार के कैटेगरी वाइज़ क्लस्टर होंगे इसमें सबसे उच्च श्रेणी के एक क्लस्टर में विला होंगे जो 900 वर्गफीट में होगा, इसके पश्चात सुपर डीलक्स श्रेणी में 480-580 वर्गफीट का क्लस्टर होगा, तथा तीसरा क्लस्टर डीलक्स श्रेणी का होगा जिसमें 250-400 वर्गफीट में टेंट्स होंगे। और टेंट सिटी के एक क्लस्टर में 200 व्यक्तियों के ठहरने की सुविधा रहेगी।

टेंट सिटी में मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी हेतु बता दें कि सिटी में स्वीस काटेजेस (टेंटेज एकोमोडेशन), रिसेप्शन एरिया, गेमिंग जोन, रेस्टोरेंट, डायनिंग एरिया, कांफ्रेंस स्थल, स्पा एवं योगा केंद्र, लाइब्रेरी एवं आर्ट गैलरी के अतिरिक्त वाटर स्पोर्टस, कैमल व हार्स राइडिंग समेत अन्य सांस्कृतिक एवं स्पोर्टस एक्टीविटी की भी सुविधा मिलेगी। टेंट सिटी के एक कक्ष लेने पर कितना खर्च करना होगा, यह तय नहीं है परंतु इतना अवश्य कहा जा रहा है कि होटल से किफायती होंगे।

अब हम आपको इस टेंट सिटी परियोजना की वर्तमान परिस्थिति व निर्माण कर्ता कंपनी आदि जानकारी देने हेतु बता दें कि इस टेंट सिट बसाने का दायित्व अहमदाबाद की कंपनी मेसर्स प्रावेग कम्यूनिकेशंस (इंडिया) लिमिटेड व मेसर्स लल्लूजी एंड संस अहमदाबाद को दी गई है। प्रावेग कम्यूनिकेशंस इंडिया लिमिटेड को 200 टेंट के दो क्लस्टर व मेसर्स लल्लूजी एंड संस अहमदाबाद गुजरात को एक क्लस्टर स्थापित करने की स्वीकृति दी गई है।

इसपर अधिक जानकारी हेतु बता दें कि टेंट सिटी परियोजना के लिए 25 अप्रैल को प्राधिकरण की वेबसाइट के माध्यम से एक्प्रेशन ऑफ इन्टरेस्ट आमंत्रित किया गया था। तत्पश्चात परियोजना के लिए विस्तृत आरएफपी तैयार करते हुए विकासकर्ताओं से प्रस्ताव प्राप्त किए जाने के लिए वाराणसी विकास प्राधिकरण द्वारा निविदा जारी किया गया था। जिसे 31 अगस्त को खोला गया था।

Also Read
भारत के सबसे बड़े मंदिर महाकाल कॉरिडोर का PM मोदी करेंगे उद्घाटन, मिलेगा रोजगार भी

श्री कृष्ण के भक्तों को बड़ी सौगात- जगन्नाथ पूरी हेरिटेज प्रोजेक्ट

इसके अतिरिक्त आपको हम बता दें कि टेंट सिटी की स्थापना के लिए आवश्यक मूलभूत अवस्थापना एवं अन्य सुविधाएं अर्थात जलापूर्ति, सीवेज , विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था व पहुंच मार्ग के विकास आदि के सुविधायें विकसित किये जाने हेतु स्थलीय आवश्यकता के अनुसार विभागों से प्राक्कलन प्राप्त करते हुए धनराशि संबन्धित विभागों को तत्काल हस्तांतरित कर दी गयी है तथा संबन्धित विभागों द्वारा सुविधाओं हेतु टेंडर आमंत्रित कर दिया गया है। एवं इसके लिए विभागों को 3 करोड़ रुपये निर्गत कर दिए गए हैं। लगभग 3 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाने के अतिरिक्त इसे रामनगर से कनेक्ट करने के लिए कहा गया है।

Tent City
Tent City

बता दें कि वाराणसी कमिश्नर दीपक अग्रवाल की अध्यक्षता में बीते दिनों मंडलीय सभागार में वाराणसी विकास प्राधिकरण द्वारा गंगा नदी के किनारे (रामनगर की ओर) बनायी जाने वाली टेंट सिटी के कार्यों की अंतर्विभागीय समीक्षा की गयी। समीक्षा में विभागों द्वारा अवगत कराया गया कि बाह्य अवस्थापना सुविधाओं को बनाने हेतु टेंडर अवार्ड करते हुये स्थल पर कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। कमिश्नर ने जोर देते हुए कहा कि देव दीपावली से पूर्व टेंट सिटी को स्थापित कर संचालित कराना सुनिश्चित करा दिया जाए। 

देव दीपावली पर गंगा महोत्सव के अंतर्गत टेंट सिटी बसाने का काम अक्टूबर के अंत तक फाइनल कर लिया जाएगा। सबसे बड़ी बात यह है कि इस स्थिति में तीन अलग-अलग ब्लॉक में टेंट सिटी बसाई जाएगी जिसमें डीलक्स, सुपर डीलक्स और कॉटेज विला शामिल किए जा रहे हैं। जिसके लिए ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा दी जाएगी।

यहां आने वाले पर्यटक पहले से ही टेंट और विला अपने अनुसार से बुक कर सकेंगे। इसमें कई प्रकार की सुविधाएं भी दी जाएंगी, जिसमें एयरपोर्ट या रेलवे स्टेशन से यहां तक लाने की व्यवस्था, यहां पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन, गंगा इस पार से उस पार जाने के लिए मोटर बोट और नाव की व्यवस्था, गंगा आरती, विश्वनाथ मंदिर दर्शन कराने की सुविधा आदि सम्मिलित होगी।

फिलहाल यह पहला अवसर होगा जब पर्यटक देव दीपावली पर आने पर होटल लॉज और गेस्ट हाउस में रुकने के अतिरिक्त गंगा पार रेत में बनाई जा रही टेंट सिटी में रुककर इस अद्भुत त्यौहार का आनंद ले सकेंगे। दीपावली के अवसर पर इस टेंट सिटी को आरंभ किया जाएगा और होली के पहले फरवरी तक इसे संचालित करने की अभी योजना बनाई गई है, यदि रिस्पांस अच्छा मिला तो इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

मित्रों यदि उपरोक्त दी हुई वाराणसी टेंट सिटी की जानकारी आपको पसंद आई हो तो वीडियो को लाइक कर कमेंट बाॅक्स में हर हर महादेव अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं, इसके अतिरिक्त यदि आप नए दर्शक हैं अथवा अभी आपने चैनल सब्सक्राइब नहीं किया है तो हमारे मनोबल में वृद्धि करने के लिए चैनल को सब्सक्राइब अवश्य करें।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखें:

वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.