यूपी का नया तूफानी विकास – Kanpur Ring Road

Kanpur Ring Road : किसी भी प्रदेश व नगर की सर्वांगीण विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण है भविष्य की आवश्यकता अनुसार सड़कों का उपलब्ध होना। जिसके लिए प्रदेश की योगी सरकार इस दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। तथा उत्तर प्रदेश देश में सड़कों का कायाकल्प करने में सबसे तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।

Kanpur Ring Road
Kanpur Ring Road

Kanpur Ring Road : इसी क्रम में आपको बता दें कि कई महत्वपूर्ण नगरों को एक्सप्रेसवे व हाईवे से जोड़ने के साथ ही साथ नगरों को जाम की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए रिंग रोड का निर्माण भी नियोजित है। इन्हीं में से एक है कानपुर जहां पर अब रिंग रोड के निर्माण का कार्य आरंभ हो रहा है।

बता दें कि 6 लेन में बनने वाली इस 93 किमी लंबी कानपुर रिंग रोड के कार्य को चार चरणों में बांटा गया है।

इस कानपुर रिंग रोड का निर्माण एजेंसी है एनएचएआइ। तथा इसका मार्ग कुछ इस प्रकार से है:

1. इटावा हाईवे पर सचेंडी के पास से रिंग रोड मंधना के निकट जीटी रोड को जोड़ेगी।

2. सचेंडी से रमईपुर के पास कानपुर-हमीरपुर हाईवे को पार कर यह सड़क रूमा के पास कानपुर-प्रयागराज हाईवे को जोड़ेगी।

3. वहां से उन्नाव के आजाद नगर के पास लखनऊ हाईवे होते हुए जीटी रोड को जोड़ेगी।

Read Also
चोरी-छिपे अयोध्या को मिली नई सौगात – Ram Ghat Halt Station Ayodhya

श्री राम मंदिर के दर्शन को अयोध्या का सबसे सुंदर मार्ग धर्म पथ तैयार

लागत की जानकारी देने हेतु बता दें कि कानपुर रिंग रोड का निर्माण एनएचएआई 7800 करोड़ रुपये की लागत से करेगी। तथा जिसका आरंभ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आठ जनवरी को करेंगे। साथ ही,18500 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी करेंगे। कानपुर में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) 7800 करोड़ रुपये से रिंग रोड बनवाएगा।

वर्तमान परिस्थिति की जानकारी देने हेतु बता दें कि नगर के चारों ओर कानपुर नगर, देहात और उन्नाव जिले में बनने वाले 93 किलोमीटर लंबे छह लेन के रिंग रोड के चार पैकेज में से दो (मंधना-सचेंडी और सचेंडी से रमईपुर तक निर्माण का ठेका राज कंस्ट्रक्शन कंपनी को मिला है। ठेकेदार कंपनी इन दोनों पैकेजों में अर्जित की गई भूमि का समतलीकरण कर रही है। पैकेज-1 में रिंग रोड का बेस बनाने के लिए खोदाई भी की जा रही है।

भूमि अधिग्रहण की अधिक जानकारी हेतु बता दें कि इस रिंग रोड निर्माण के लिए कुल 387.5716 हेक्टेटर भूमि का अधिग्रहण किया जाना है। जो कि पिछले वर्ष जुलाई से ही आरंभ हुई थी।

Varanasi Ring Road
Highway

फेज-1 में सचेण्डी से महराजपुर,

फेज-2 में महराजपुर से खुशहालगंज,

फेज-3 में जाना से उचटी,

फेज-4 में जरकला से सचेण्डी तक कानपुर रिंग रोड का निर्माण किया जाएगा।

बता दें कि बीते दिनों एनएचएआइ मुख्यालय से रिंग रोड के पैकेज तीन का टेंडर भी फाइनल कर दिया गया। इस पैकेज में रूमा और उन्नाव के आटा के बीच गंगा नदी पर 1.2 किलोमीटर लंबा पुल भी बनेगा, जो भविष्य में जाजमऊ गंगा पुल का विकल्प भी बनेगा।

Read Also
अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन का अद्भुत मार्ग हुआ तैयार, मिलेगा रामायण कालीन अनुभव

भारत का सबसे आधुनिक रेलवे स्टेशन हुआ तैयार, PM Modi इस दिन करेंगे उद्घाटन

बता दें कि रिंग रोड इस भाग के माध्यम से कानपुर-प्रयागराज हाईवे और लखनऊ एक्सप्रेसवे को एयरपोर्ट से सीधे कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। एनएचएआइ ने रिंग रोड के पैकेज तीन के अंतर्गत कानपुर नगर जिले के रमईपुर के जरकला गांव से उन्नाव जिले के आटा गांव के बीच 19.235 किमी भाग का टेंडर एक हजार करोड़ रुपये में आमंत्रित किया था। और इस भाग में 1.2 किलोमीटर का गंगा नदी पर पुल बनना है। तथा रिंग रोड से एयरपोर्ट के टर्मिनल को जोड़ने के लिए छह लेन की डेढ़ किलोमीटर की सड़क भी बनेगी।

परियोजना की विशेषताओं की जानकारी देने हेतु बता दें कि इस रिंग रोड में 12 इंट्री प्वाइट बनाए जाएंगे जिनके नाम आपके स्क्रीन पर उपलब्ध हैं: 

भौंती, कानपुर-शिवली रोड, सिंहपुर से बिठूर, मंधना, सचेंडी, रमईपुर घाटमपुर रोड, डिफेंस कारीडोर, जाजमऊ पुल, चकेरी, चकेरी एयरपोर्ट, शुक्लागंज-उन्नाव रोड, ट्रांसगंगा सिटी रोड।

Kolkata Varanasi Expressway
Expressway

कानपुर रिंग रोड के क्षेत्र की जानकारी देने हेतु बता दें कि इसका भाग :

कानपुर नगर 62 किलोमीटर

कानपुर देहात 4 किलोमीटर

उन्नाव 27.200 किलोमीटर में है।

कानपुर रिंग रोड परियोजना में होने वाले संरचना निर्माण की जानकारी देने हेतु बता दें कि इसमें 3.5 किलोमीटर का पुल गंगा नदी में मंधना के समीप बनेगा। तथा 1.900 किलोमीटर का पुल रुमा-आटा के बीच गंगा नदी पर बनेगा। इसके अतिरिक्त 09 रेलवे उपरगामी पुल बनेंगे और 07 फ्लाईओवर रिंग रोड में बनाए जाएंगे। तथा इस परियोजना को 03 वर्ष लगेंगे पूरा होने में। अर्थात 2026 तक पूरा होगा निर्माण।

Read Also
PM Modi देंगे अयोध्या को इतिहास में सबसे बड़ी सौगात

बन गया अद्भुत हिन्दू मंदिर मुस्लिम देश में PM Modi द्वारा उद्घाटन

सबसे महत्वपूर्ण है कि प्रोजेक्ट के ले आउट के अनुसार रिंग रोड के किनारे-किनारे जहां एक ओर 10 झीलों को विकसित किया जाएगा, वहीं इंटीग्रेटेड टाउनशिप की स्थापना भी होगी। 

अधिक जानकारी हेतु बता दें कि रिंग रोड के किनारे बसायी जाने वाली टाउनशिप में औद्योगिक सेक्टर, आवासीय सेक्टर के साथ ही रीक्रिएशन जोन भी बनाए जाएंगे। इसके साथ ही यहां कामर्शियल व शैक्षणिक संस्थान भी होंगे। चिकित्सालय के लिए भूखंड भी आवंटित किए जाएंगे।

यही नहीं रमईपुर से रूमा के पास प्रयागराज हाईवे तो आटा के पास कानपुर- लखनऊ हाईवे से जुड़ेगी। आटा से आकर मंधना के पास जीटी रोड से जुड़ जाएगी। अभी इसके किनारे पर साढ़ में डिफेंस कॉरिडोर, रमईपुर में मेगा लेदर क्लस्टर, गंगा बैराज के पास ट्रांसगंगा सिटी तो रूमा के पास चकेरी और रूमा औद्योगिक क्षेत्र होंगे।

Varanasi Kolkata Expressway
Expressway

रिंग रोड के किनारे नई टाउनशिप कहां- कहां बसाई जाएगी यदि यह जानना चाहते हैं तो आपको हम बता दें कि इसका सर्वे कराने की तैयारी हो चुकी है। इससे एक तो अनियोजित तरीके से बस रहीं हाउसिंग सोसाइटियों पर लगाम लगेगी दूसरे लोगों को उच्चस्तरीय सुविधाओं से युक्त आवासीय परिसर मिल जाएगा।

महत्वपूर्ण है कि इस प्रस्ताव को हरी झंडी मिल गई है। अब जब भी बैठक होगी तो यह तय हो जाएगा कि कौन सा प्राधिकरण इस प्रोजेक्ट पर कार्य करेगा। उप्र राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण अथवा उप्र एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण अथवा कानपुर विकास प्राधिकरण। रिंग रोड पर प्रवेश के जो 12 प्वाइंट बनेंगे। इन्हीं के आसपास इंटीग्रेटेड टाउनशिप बसाने की योजना पर काम किया जाएगा।

मित्रों यदि दी हुई कानपुर रिंग रोड परियोजना की जानकारी आपको पसंद आई हो तो कमेंट बाॅक्स में गांव अथवा जिले का नाम अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं।

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:-

वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *