अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन का अद्भुत मार्ग हुआ तैयार, मिलेगा रामायण कालीन अनुभव

Bhakti Path Ayodhya : 500 वर्षों के संघर्ष का परिणाम स्वरूप अयोध्या में रामलला अपने भव्य मंदिर में विराजमान होने वाले हैं। तथा 22 जनवरी 2024 को वो शुभ घड़ी की सबको अत्यंत प्रतिक्षा है। जिसके पश्चात समस्त विश्व के श्रद्धालुओं का आगमन अयोध्या में भारी संख्या में होगा। इसी को ध्यान में रखते हुए अयोध्या आगमन के मार्ग तथा श्रद्धालुओं के दर्शन को सुगम बनाने के लिए मंदिर तक के पहुँच मार्ग को सुदृढ किया जा रहा है।

Bhakti Path Ayodhya
Bhakti Path Ayodhya

Bhakti Path Ayodhya : आगे बढ़ने से पहले हम आपको मानचित्र की सहायता से इन परियोजनाओं की जानकारी देते हैं। बता दें कि रामलला के दर्शन को आने वाले भक्तों की सुविधाओं की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए राममंदिर से जुड़ी सभी पहुंच मार्गों को विकसित किया जा रहा है। जिनमें है राम पथ, जन्मभूमि पथ, धर्म पथ तथा भक्ति पथ।

बता दें कि श्रृंगार हाट से हनुमान गढ़ी होते हुए श्री राम मंदिर तक पहुंचने वाला मार्ग जिसे की भक्ति पथ के नाम से जाना जाएगा। आज हम आपको इस वीडियो में भक्ति पथ मार्ग निर्माण की विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं।

Read Also
राम मंदिर से पहले तैयार हुआ विश्व का सबसे बड़ा महामंदिर – Swarved Mahamandir

आ गई वो शुभ घड़ी रामलला होंगे विराजमान – Ayodhya Ram Mandir

राम नगरी में हनुमान गढ़ी को जोड़ते हुए राम जन्मभूमि तक भक्ति पथ का निर्माण कार्य वर्तमान समय में अंतिम अवस्था में है। यह मार्ग नया घाट और श्री राम जन्मभूमि को जोड़ता है। और इस मार्ग पर दर्शनार्थीयों की भीड़ हर समय देखी जा सकती है।

बता दें कि जन्मभूमि पथ के ही प्रकार से भक्ति पथ का निर्माण कार्य भी उत्तर प्रदेश लोक निर्माण विभाग द्वारा संचालित है। इस मार्ग पर 700 मीटर का कोरीडोर भी बनाया जा रहा है। तथा भक्ति पथ की चौड़ाई 14 मीटर है।

Bhakti Path Ayodhya
Bhakti Path Ayodhya

वर्तमान परिस्थिति की जानकारी देने हेतु आपको एक्सक्लूसिव ग्राउंड जीरो की छवि दर्शाते हुए बता दें की वर्तमान समय इस पथ को संवारने के लिए श्रमिक लगे हुए हैं। और शेष कार्यों को तीव्रता से संपन्न करने में जुटे हुए हैं।

जानकारी हेतु बता दें कि यहां पर कंक्रीट की सहायता से नालीयों और डक्ट आदि के लिए ढलाई हुआ है। तत्पश्चात मार्ग व पाथवे का निर्माण किया गया है।

अधिक जानकारी हेतु बता दें कि मार्ग निर्माण से पहले मार्ग पर पड़ने वाले सभी भवनों व दुकानों को पीछे किया गया है ताकि मार्ग को चौड़ा किया जा सके। और इसके लिए भवन आदि का अधिग्रहण व क्षतिपूर्ति सरकार द्वारा भूस्वामियों को प्रदान करने के पश्चात ध्वस्तीकरण किया गया था। जिसमें की अत्यधिक समय भी लगा और कुछ विरोध आदि का सामना भी सरकार को करना पड़ा था।

Read Also
इस दिन नहीं होगी अयोध्या में राम लला के दर्शन Ayodhya Ram Mandir

CM योगी का स्वप्न हुआ साकार, माँ विंध्यवासिनी धाम ने लिया भव्य आकार

अधिक जानकारी हेतु बता दें कि भक्ति पथ लगभग 700 मीटर लंबा है। और इस मार्ग को भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप से अत्याधुनिक बनाया जा रहा है। यही नहीं इस मार्ग पर पड़ने वाले भवनों को भी समरूपता प्रदान किया जा रहा है। तथा आप देख सकते है कि सभी भवनों को एक ही आकृति के बाह्य स्वरूप में ढाला जा रहा है। तथा रंग आकृति व कलाकृतियां भी समान रूप से किया जा रहा है।

बता दें कि अयोध्या में राम पथ और भक्ति पथ का काफी महत्व है। रामपथ सआदतगंज से नयाघाट तक बनाया जा रहा है। भक्ति पथ अयोध्या मुख्य मार्ग से हनुगढ़ी होते हुए श्रीराम जन्म भूमि तक है। जन्मभूमि पथ सुग्रीव किला से श्रीराम जन्मभूमि मंदिर मार्ग तक है। अयोध्या के लिए इन सभी मार्गों का काफी महत्व है।

Bhakti Path Ayodhya
Bhakti Path Ayodhya

निर्माण कार्य की वर्तमान परिस्थिति की जानकारी देने हेतु बता दें कि भक्ति पथ अर्थात श्रृंगारहाट से हनुमान गढ़ी होते हुए जन्मभूमि पथ तक तय समय सीमा के भीतर कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। फुटपाथ का काम तो चल रहा है, जो कुछ ही दिन में पूर्ण हो जाएगा।

बता दें कि यह कार्य धर्मार्थ विभाग द्वारा स्वीकृत बजट से किया जा रहा है। जिसे लोक निर्माण विभाग पूरा कर रहा है। तथा विकास प्राधिकरण द्वारा फसाड लाइटिंग का कार्य भी किया जा रहा है। जो लगभग 95 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।

Read Also
अयोध्या को मिली उत्तर भारत की पहली बड़ी सौगात

बन रहा है वाराणसी का अपना रामपथ Sandaha Kachahari Fourlane Road

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप अयोध्या में विकास कार्य तेजी से चल रहा है। अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होनी है। इससे पहले कार्यान्वयन एजेंसियां विभिन्न योजनाओं को पूरा करने में जुटी हैं। श्रृंगार हाट से सीधे राम जन्मभूमि तक बन रहे भक्तिपथ का काम इसी सप्ताह पूरा हो जाएगा।

इसके बन जाने से जन्मस्थान जाने वाले श्रद्धालुओं को भीड़ का सामना नहीं करना पड़ेगा और वे सीधे मंदिर तक पहुंच सकेंगे। इस रूट की विशेष बात यह होगी कि यह अयोध्या के प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर से होकर गुजरेगा, जिससे श्रद्धालु सरलता से हनुमानगढ़ी और राम जन्मभूमि मंदिर के दर्शन कर सकेंगे।

Bhakti Path Ayodhya
Bhakti Path Ayodhya

यह भी बता दें कि भक्ति पथ के निर्माण में 68.04 करोड़ रुपये की लागत आयी है। यह पथ 742 मीटर लंबा बनाया गया है। भक्ति पथ पर निर्माण कार्य 29 नवंबर 2022 को आरंभ किया गया था और इसके पूरा होने का समय 10 दिसंबर 2023 तय किया गया था। दिन रात काम करके सभी विभाग ने तय समय पर कार्य पूर्ण करने का प्रयास किया है।

राम मंदिर के निर्माण के साथ – साथ अयोध्या के विकास के लिए प्रदेश सरकार कोई कोर- कसर नहीं छोड़ रही है। अयोध्या को दिव्य और भव्य बनाने के लिए प्रदेश सरकार युद्ध स्तर पर कार्य कर रही है। केवल मंदिर ही नहीं अपितु अयोध्या को सम्पूर्ण रूप से विकसित करने और जनता को सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है। सरकार की मंशा है कि रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले अयोध्या को ढेर सारी सौगातें प्रदान की जायें।

Read Also
भारत का सबसे आधुनिक रेलवे स्टेशन हुआ तैयार, PM Modi इस दिन करेंगे उद्घाटन

PM Modi देंगे अयोध्या को इतिहास में सबसे बड़ी सौगात

इसी क्रम में जन्मभूमि पथ, भक्ति पथ, धर्म पथ और राम पथ लगभग बनकर तैयार हो चुके हैं। राम पथ का मिडिल क्षेत्र का लगभग काम हो चुका है। स्ट्रीट लाइट और फुटपाथ बनने का काम चल रहा है। राज्य सरकार के द्वारा बनवाये जा रहे राम पथ की लंबाई 13 किलोमीटर है।

रामराज की प्रकार से सज रही अयोध्या में प्रवेश करते ही श्रद्धालु सनातन संस्कृति में डूब रहे हैं। वहीं दीवारें भी विभिन्न कलाकृतियों से सजाई जा रही हैं। सड़कों के किनारे लग रहे सूर्य स्तंभ भगवान राम के सूर्यवंशी होने के प्रतीक को दर्शाते हैं। वहीं अयोध्या में अब रंग रोगन, साफ सफाई और कलाकृति का कार्य हर ओर प्रदर्शित हो रहा है।

Ram Mandir Marg Ayodhya
Ram Mandir Marg Ayodhya

महत्वपूर्ण है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे। पीएम मोदी अयोध्या एयरपोर्ट के समीप में विशाल जनसभा को सम्बोधित करेंगे। साथ ही पीएम मोदी अयोध्या एयरपोर्ट और अयोध्या रेलवे स्टेशन का लोकार्पण करेंगे और कई ट्रेनों को हरी झंडी दिखाकर लोकार्पण करेंगे। इसके अतिरिक्त राम मंदिर मार्गों का भी लोकार्पण करेंगे।

योगी सरकार की मंशा है कि जनवरी के प्रथम सप्ताह तक मंदिर का उद्घाटन हो जाए और देश और विश्व के श्रद्धालु यहां अपने आराध्य के दर्शन कर सकें। इसके लिए एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन समेत अनेक कनेक्टिविटी का विस्तार हो रहा है।

मित्रों यदि दी हुई भक्ति पथ निर्माण की जानकारी आपको पसंद आई हो तो कमेंट बाॅक्स में जय श्री राम अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं।

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:-

वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *