PM मोदी की काशी को मिली दिव्यता की नई सौगात

वाराणसी अर्थात उत्तर प्रदेश का वह नगर जहाँ पर पर्यटक केवल घूमने ही नहीं अपितु धार्मिक दृष्टि से सबसे अधिक दर्शनार्थी भी आते हैं।

TFC

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में पर्यटकों की बढ़ती संख्या व प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों ने वाराणसी को एक माॅडल सिटी के रूप में स्थापित किया है। तथा अब वाराणसी नगर को देखने व श्री काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर में बाबा विश्वनाथ के दर्शन पूजन करने के लिए लाखों लोग प्रतिदिन आ रहे हैं तथा यह संख्या नवीन कीर्तिमान भी बना रही हैं। इन्हीं संख्या को देखते हुए व श्रद्धालुओं को सुविधा तथा उचित यात्रा व जानकारी प्रदान करने के लिए IRCTC ने एक नवीन पहल की है। जिसके अंतर्गत दिल्ली से वाराणसी के लिए एक विशेष ट्रेन की सौगात जनता को मिली है जिसका नाम है दिव्य काशी यात्रा। जैसे कि रामायण एक्सप्रेस व चार धाम यात्रा की ट्रेनें पहले से संचालित हैं।

Divya Kashi Yatra Train

बता दें की यह ट्रेन दिल्ली से काशी के लिए 22 मार्च से ‘दिव्य काशी यात्रा’ के पैकेज के अंतर्गत आरंभ होगी। इस ट्रेन में प्रथम और द्वितीय वातानुकूलित श्रेणी में कुल 156 सीटें होंगी। प्रथम श्रेणी में 96 और द्वितीय श्रेणी में 60 सीटें हैं।

यात्रीयों के सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए विभिन्न प्रकार की व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है, जैसे कि बुक स्टोर, फुट मसाजर, शू शाइनर इत्यादि।

इसके अतिरिक्त 2 टियर के वातानुकूलित डिब्बे में इस प्रकार से एक ओर बैठने के लिए आरामदायक सोफे भी दिए गए हैं तथा मध्य में एक टेबल तथा ऊपर में साइड लैंप भी है।

Yatra at Sarnath

बता दें की इस यात्रा का आरंभ दिल्ली से होगा और ट्रेन में ही आपको भोजन भी उपलब्ध कराई जाएगी। भोजन कैसा होगा तथा इस ट्रेन का भोजन वाला डिब्बा कैसा है यह बताने से पहले हम आपको बता दें की इस दिव्य काशी यात्रा पैकेज के अंतर्गत आपको वाराणसी के विभिन्न दार्शनिक स्थलों को घूमने का अवसर भी मिलेगा। सबसे पहले आपको वाराणसी पहुँचने पर टूरिस्ट ट्रेवलर बस की सुविधा मिलेगी जिसके माध्यम से आप सभी अन्य यात्रीयों के साथ होटल व विभिन्न स्थलों को प्रस्थान करेंगे।

बता दें की इस दिव्य काशी यात्रा पैकेज की सबसे अच्छी बात यह है कि काशी दर्शन के लिए आपको इधर उधर भटकना नहीं होगा तथा सभी दर्शन व भ्रमण आप एक निश्चित समयावधि में सुविधा के साथ कर सकेंगे।

अक्सर आपके साथ ऐसा होता होगा की आप किसी स्थान पर गए और वह स्थान बंद हो अथवा हो सकता है कि वहाँ पर व्यवस्था में कोई परिवर्तन हो जिसके कारण से उस समय आपको कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। परंतु यदि आप IRCTC के इस दिव्य काशी यात्रा के माध्यम से काशी दर्शन को आते हैं इस प्रकार की सभी सुविधाओं का ध्यान आयोजक द्वारा रखा जाता है।

Boating at Varanasi

इस दिव्य काशी यात्रा में सम्मिलित समस्त स्थलों के दृश्य दिखाते हुए आपको बता दें की इस दिव्य काशी यात्रा पैकेज में आपको जिन दार्शनिक व धार्मिक स्थलों को घूमने का अवसर मिलेगा वो कुछ इस प्रकार से हैं-
1. वाराणसी के सारनाथ, अर्थात भगवान बुद्ध की प्रथम उपदेश स्थली व उत्खनन स्थल तथा संग्रहालय आदि
2. वाराणसी के गंगा नदी में नौकायन की अद्भुत अनुभूति, जिसमें कि आपको काशी के सभी घाटों के मनमोहक दृश्य के अवलोकन का अवसर मिलेगा।
3. वाराणसी में स्थित भगवान भोलेनाथ के द्वादश ज्योतिर्लिंग के दर्शन व नव्य दिव्य भव्य विश्वनाथ धाम कॉरिडोर के संपूर्ण भ्रमण का विशेष अवसर मिलेगा जो आपके यात्रा को स्मरणीय बनाने में अभूतपूर्व पल का साक्षी बनेगा।
इसके अतिरिक्त
4. विहंगम व विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती के मनमोहकता तथा दिव्यता का आप अनुभव कर सकेंगे जिसे देखने विश्व भर से लोग आते हैं।
5. इसके अतिरिक्त काशी के कोतवाल बाबा कालभैरव मंदिर, हुनमान जी के संकट मोचन मंदिर, तुलसी मानस मंदिर, दुर्गा मंदिर, भारत माता मंदिर तथा पंच कोशी यात्रा के पांच प्रसिद्ध मंदिर जिसे की पंच पड़ाव भी कहते हैं अर्थात कर्दमेश्वर, भीमचंडी, रामेश्वर, शिवपुर और कपिलेश्वर सम्मिलित हैं।

Kashi Vishwanath Corridor

बता दें कि पिछले दिनों गुजरात के सोमनाथ में नए सर्किट हाउस के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात की घोषणा की थी कि दिव्य काशी यात्रा के लिए एक विशेष ट्रेन दिल्ली से आरम्भ होने जा रही है।

बता दें कि वाराणसी में पर्यटकों की बढ़ती मांग के चलते ‘दिव्य काशी यात्रा’ ट्रेन चलाई जा रही है। आईआरसीटीसी वाराणसी जाने वाले यात्रियों के लिये चार रात और पांच दिन का यात्रा पैकेज उपलब्ध कराएगा, जिसमें खाना, रहना और वाराणसी के विभिन्न प्रमुख स्थलों पर घूमना सम्मिलित है। प्रथम श्रेणी की सीटों के लिए 29,950 रुपए प्रति व्यक्ति और द्वितीय श्रेणी के लिए 24,500 प्रति व्यक्ति शुल्क लिया जाएगा। तथा 04 रात/ 05 दिन की यह दिव्य काशी यात्रा दिल्ली सफदरजंग रेलवे स्टेशन से 22.03.2022 को प्रारम्भ की जाएगी।

इस यात्रा में शुद्ध शाकाहारी व सात्विक भोजन एसी वाहनों में सभी दर्शनीय स्थलों के दर्शन यात्रा बीमा और आईआरसीटीसी टूर मैनेजरों, टूर स्कॉर्ट एवं गाइड जैसी सेवाएं आदि सम्मिलित की गईं हैं। यात्रा के समयावधि में सुरक्षित और सुव्यवस्थित यात्रा प्रदान करके सभी आवश्यक स्वास्थ्य सावधानियों का ध्यान रखा जाएगा। यह भी बता दें की इस यात्रा के लिए सभी यात्रियों को पूर्ण रूप से कोविड वैक्सीनेटेड होना आवश्यक है।

वाराणसी- विश्व के प्राचीनतम नगरों में से एक है जहाँ धर्म आस्था, संस्कृति का संगम होता है। वाराणसी उत्तर प्रदेश का एक अलौकिक नगर है, जिसे भारत की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक राजधानी कहा जाता है। यह अद्भुत, अलौकिक, मुक्तिदायिनी शिव नगरी हिंदू तीर्थ यात्रियों को आकर्षित करती है। काशी की घुमावदार सड़कों पर लगभग 2,000 मंदिर हैं, यही नहीं काशी में कहावत है कि यहां कण कण को में शंकर है।

Group Pic

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC), रेल मंत्रालय के अधीन एक प्रमुख यात्रा एवं पर्यटन कंपनी है। यह कंपनी देश में बड़े स्तर पर पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सतत् प्रयत्नशील है। देश में घरेलू पर्यटन के विकास हेतु देखो अपना देश योजना के अंतर्गत पर्यटन मंत्रालय द्वारा चिन्हित विभिन्न थीम आधारित पर्यटक सर्किटों पर कई पर्यटन ट्रेनों का संचालन करती रही है।

निकट भविष्य में वाराणसी के अद्भुत प्रमुख पवित्र स्थलों के दर्शन हेतु ‘देखो अपना देश’ एसी टूरिस्ट ट्रेन द्वारा “दिव्य काशी यात्रा” कराने की योजना बनाई गई है।

Also Read
काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के द्वितीय चरण में ऐसे हो रहा है भारत निर्माण

वाराणसी में बन रहा है पूर्वी भारत का गेटवे, कार्य तीव्र गति से संचालित

इस आध्यात्मिक यात्रा के लिए आईआरसीटीसी आधुनिक सुख-सुविधाओं से सुजज्जित डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन चलाने जा रही है, यह ट्रेन 22 मार्च 2022 को दिल्ली के सफदरगंज रेलवे स्टेशन से प्रस्थान करेगी।

वाराणसी की अपनी एक विशिष्ट पहचान है, अपनी कला, संस्कृति, पौराणिकता, प्राचीनता, मस्त-मौलेपन जैसे अनेक रंगों से नहाई हुई है। वाराणसी भारतीय संस्कृति और सभ्यता की राजधानी है एवं सदियों से अपने ही प्रवाह में बहती रही है।

Ganga View at Varanasi

वाराणसी काशी के नाम से प्रसिद्ध है। भारतवर्ष के प्राचीनतम नगरों में से एक यह भारत की आध्यात्मिक राजधानी भी है। यह नगर तीर्थ-यात्रियों के साथ-साथ अन्य लोगों को भी आकर्षित करती है। काशी एकमात्र ऐसा नगर है जहाँ जीवन जीने के लिए तो लोग आते ही हैं साथ ही मोक्ष के लिए भी इसी नगर में शरण लेते हैं। गंगा नदी के पवित्र जल में स्नान करके लोग स्वयं को धन्य मानते हैं।

Also Read
अयोध्या ही नहीं, इस मुल्सिम देश में बन रहा है पहला हिन्दू मंदिर

अयोध्या श्री राम मंदिर के नींव निर्माण में तृतीय चरण का हुआ शुभारंभ

आइए अब आपको इस यात्रा के समयावधि में मिलने वाले भोजन आदि की जानकारी देते हैं। बता दें कि इस पूरी यात्रा में हर समय आपके नाश्ते व भोजन की उत्तम व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है ।
यहाँ होटल में भोजन के साथ मधुर भजन व संगीतमय व्यवस्था भी है जो आपके यात्रा को और भी स्मरणीय बना देगी। इसके पश्चात इस विशेष रेल के विशेष भोजनयान में भी भोजन की व्यवस्था है तथा हम इसमें स्वयं भी भोजन करने जा रहे हैं।

मित्रों हम आशा करते हैं कि आपको हमारी यह दिव्य काशी यात्रा की विशेष प्रस्तुति पसंद आई होगी। तथा यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई हो तो कमेंट बॉक्स में हर हर महादेव अवश्य लिखें।

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:

वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *