अयोध्या को एक और बड़ी सौगात – Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment

Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment : किसी भी देश को विकसित होने के लिए वहां की आधारभूत संरचनाओं का सुदृढ़ होना अत्यंत आवश्यक है। और इसकी महत्ता को समझते हुए देश की वर्तमान सरकार भारत के विभिन्न आधारभूत संरचनाओं का अभूतपूर्व विकास कर रही है। फिर चाहे वो रेल व रोड नेटवर्क हो अथवा विकास की दौड़ में गति बनाने के लिए बुलेट ट्रेन मेट्रो व एक्सप्रेसवे आदि का निर्माण, या फिर एयरपोर्ट व रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण। इस समय संपूर्ण भारत में हर ओर कोई ना कोई विकास कार्य संचालित है जिसका अनुभव आप स्वयं भी अपने क्षेत्र में रहकर कर रहे होंगे।

Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment
Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment

Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment : इसी क्रम में आज हम आपको उत्तर भारत के महत्वपूर्ण व सनाथन धर्म की प्रथम सप्तपुरि अयोध्या के अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन के विश्वस्तरीय होने की परियोजना की विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं।

बता दें कि अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन और राममंदिर की तर्ज पर अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन को भी अब विकसित किया जाएगा। तथा अयोध्या कैंट स्टेशन को 600 करोड़ रुपए से संवारा जाएगा। इसके डीपीआर को रेल मंत्रालय से अति शीघ्र स्वीकृति मिलने जा रही है। तत्पश्चात इसे पूरी तरह से भव्य बनाया जाएगा और इसे राम मंदिर के मॉडल के तर्ज पर डेवलप किया जाएगा। यह पहले की अपेक्षा करीब दो गुना बड़ा होगा।

Read Also
अब वाराणसी की बदलेगी सूरत, Varanasi Airport New Terminal

वाराणसी को अंतर्राष्ट्रीय सौगात- International Cricket Stadium Varanasi

सबसे महत्वपूर्ण है कि अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन के आसपास रेल विभाग की भूमि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। इसलिए नए विकास के लिए रेलवे को भूमि क्रय करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इस रेलवे स्टेशन को अत्यंत भव्य और भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए बड़ा बनाया जाना है।

बता दें कि स्टेशन के मुख्य भवन का स्थान परिवर्तित होगा और उसे ऐसे स्थान पर बनाया जाएगा जहां मुख्य भवन के आसपास बड़ी स्थान है। यही नहीं अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन और अयोध्या कैंट के रेल लाइन दोहरीकरण का काम भी पूरा हो रहा है। जिससे अब अयोध्या और अयोध्या कैंट के लिए ट्रेन की संख्या बढ़ाई जाएगी।

Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment
Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment

बताते चले कि राम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या के आसपास के सभी रेलवे स्टशनों के विकास का काम चल रहा है। दर्शन नगर रेलवे स्टेशन के 21 करोड़ से विकास कार्य का उद्घाटन हो चुका है। इसी तरह गोशाईगंज, अकबरपुर, बाराबंकी आदि स्टेशन का विकास कार्य हो रहा है। और रामघाट रेलवे स्टेशन के नवीनीकरण का तो उद्घाटन भी हो चुका है।

राम मंदिर के उद्घाटन के पश्चात सन् 2024 में लगभग 5 करोड़ यात्रियों के रामलला दर्शन के लिए अयोध्या आने का अनुमान है। जिसमें से अब तक लगभग-लगभग एक करोड़ लोग तो पहले २ माह में ही आ चुके हैं। इसके लिए रेलवे स्वयं को तैयार कर रहा है। संभावित संख्या को देखते हुए अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन के पहले चरण का विकास कार्य पूरा कर उद्घाटन भी कर दिया गया है जिसकी जानकारी हमारे चैनल पर उपलब्ध है। इसे बाहर से राम मंदिर माडल का रूप दिया गया है पर भीतर से एयरपोर्ट की तरह सुविधाओं का अनुभव होता है।

Read Also
लंदन अमेरिका व चाइना नहीं, हो रहा है विकसित भारत का उद्घाटन

क्या है दिल्ली वाराणसी बुलेट ट्रेन परियोजना की वर्तमान परिस्थिति? जानें

अधिक जानकारी हेतु बता दें कि अयोध्‍या के कैंट रेलवे स्टेशन को भी अत्याधुनिक और भव्य बनाए जाने की योजना है। इसके लिए निर्माण कंपनी राइट्स को डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने का दायित्व दिया गया है।

यह भी बता दें कि कैंट रेलवे स्‍टेशन जो पहले फैजाबाद जंक्‍शन के नाम से जाना जाता था, अब राम मं‍दिर के मॉडल लुक के साथ बनेगा। इसके दोनों ओर नया स्टेशन भवन बनने के साथ दो बड़े प्रवेश मार्ग बनाए जाएंगे। एवं अयोध्‍या कैंट पर अयोध्‍या धाम जंक्‍शन की ही तरह सुरक्षा के कड़े व्यवस्था होगें। इसके लिए आरपीएफ, जीआरपी की पोस्ट और सीसीटीवी कैमरे सहित अन्य उपकरण के लिए स्थान देखा गया है।

Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment
Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment

डीआरएम के अनुसार रेल लाइन का दोहरीकरण का कार्य होने के कारण ट्रेने लेट हो रही हैं। जहां पर सिंगल लाइन है उसका असर आने वाली ट्रेन पर भी पड़ता है। लेट हुई ट्रेन का समय मेकअप करने का प्रयास किया जा रहा है। 2024 में ही अकबरपुर बाराबंकी रेलवे लाइन का दोहरीकरण का कार्य पूरा हो जाएगा। तथा अगले 50 वर्षों के हिसाब से अयोध्‍या कैंट रेलवे स्‍टेशन की दूसरे चरण की प्लानिंग भी की गई है। इसमें तीन नए प्लेटफार्म और बनाए जाएंगे।

राजा राम की नगरी में भव्‍य राम मंद‍िर न‍िर्माण के साथ ही अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन की तर्ज पर अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा। अंग्रेजों के जमाने की बनी बिल्डिंग को तोड़कर नई बिल्डिंग बनाई जाएगी। मल्टीस्टोरी रेजिडेंशियल बिल्डिंग के साथ पार्किंग की भी व्यवस्था होगी। रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकोनामिक सर्विस राइट्स इसकी डीपीआर बना रहा है।

Read Also
वाराणसी देगी देश को नई दिशा, PM Modi ने सौंपा देश का पहला कचरे से कोयला बनाने का संयंत्र

नव्य स्वर्णिम होगा माता विंध्यवासिनी मंदिर कॉरिडोर का उद्घाटन

जानकारी हेतु बता दें कि इस स्टेशन की स्थापना 1874 में हुई थी। तथा अक्टूबर 2021 में, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस स्टेशन का नाम परिवर्तित कर “अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन” करने का निर्णय लिया। और 2 नवंबर 2021 को भारतीय रेलवे ने नाम परिवर्तन पर सहमति व्यक्त की, जिससे स्टेशन कोड भी FD से AYC में परिवर्तित हो गया।

यह भी बता दें कि पुनर्निमाण में अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन में कई बड़े परिवर्तन देखने को मिलेंगे। सबसे पहला परिवर्तन होगा स्टेशन की लंबाई का। जी हां अभी यह स्टेशन मात्र 200 मीटर में बना हुआ है परंतु पुनर्विकास के पश्चात स्टेशन का मुख्य भवन पांच से छह सौ मीटर लंबा हो जाएगा। नए भवन का विस्तार माल गोदाम की ओर होगा। इसीलिए मालगोदाम को शीघ्र अतिशीघ्र सालारपुर स्थानांतरित किए जाने पर जोर दिया जा रहा है।

Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment
Ayodhya Cantt Railway Station Redevelopment

इसके अतिरिक्त बीते 5 अगस्त को भारत सरकार की अमृत योजना में देश के विभिन्न रेलवे स्टेशनों के साथ चयनित दर्शन नगर रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास कार्य का शिलान्यास किया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के 508 रेलवे स्टेशनों के साथ दर्शन नगर रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास कार्य की आधारशिला रखा था। इस योजना में दर्शन नगर रेलवे स्टेशन के लिए 21.9 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गयी है।

यही नहीं अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन पर द्वितीय चरण के अंतर्गत भी विकास कार्य संचालित है और प्रथम चरण का तो उद्घाटन भी किया जा चुका है जिसकी विस्तृत जानकारी हमारे चैनल पर उपलब्ध है।

मित्रों यदि दी हुई अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन पुनर्विकास परियोजना की जानकारी आपको पसंद आई हो तो कमेंट बाॅक्स में जय श्री राम अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं।

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:-

video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *