लंदन अमेरिका व चाइना नहीं, हो रहा है विकसित भारत का उद्घाटन

Gomtinagar Railway Station Inauguration : किसी भी देश को विकसित होने के लिए वहां की आधारभूत संरचनाओं का सुदृढ़ होना अत्यंत आवश्यक है। और इसी महत्ता को समझते हुए देश की वर्तमान सरकार भारत के विभिन्न आधारभूत संरचनाओं का अभूतपूर्व विकास कर रही है। फिर चाहे वो रेल व रोड नेटवर्क हो अथवा विकास की दौड़ में गति बनाने के लिए बुलेट ट्रेन मेट्रो व एक्सप्रेसवे आदि का निर्माण, या फिर एयरपोर्ट व रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण। इस समय संपूर्ण भारत में हर ओर कोई ना कोई विकास कार्य संचालित है जिसका अनुभव आप स्वयं भी अपने क्षेत्र में रहकर कर रहे होंगे।

Gomti Nagar Railway Station
Gomti Nagar Railway Station

Gomtinagar Railway Station Inauguration : इसी क्रम में आज हम आपको उत्तर भारत के महत्वपूर्ण व उत्तर प्रदेश की राजधानी में निर्मित एक ऐसे रेलवे स्टेशन के विश्वस्तरीय होने की परियोजना की विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं जो कभी एक बहुत ही साधारण सा रेलवे स्टेशन हुआ करता था परंतु नवीन सोच और सरकार के बड़े संकल्पों ने आज इस गोमतीनगर रेलवे स्टेशन को ऐसा बना दिया जिसकी भारत में होने की कभी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था।

जी हां, एयरपोर्ट की तर्ज पर संवर चुके गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का लोकार्पण 26 फरवरी को किया जा रहा है। पहले हम आपको इस परियोजना के काल चक्र की जानकारी देने हेतु बता दें कि लगभग 6 वर्ष पूर्व गोमतीनगर को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने का प्रोजेक्ट 21 मई सन 2018 में स्वीकृत किया गया था। इस विश्वस्तरीय स्टेशन का निर्माण रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) ने किया है। तथा इस प्रोजेक्ट पर लगभग 380 करोड़ रुपए का खर्च किया गया है।

Read Also
क्या है दिल्ली वाराणसी बुलेट ट्रेन परियोजना की वर्तमान परिस्थिति? जानें

वाराणसी देगी देश को नई दिशा, PM Modi ने सौंपा देश का पहला कचरे से कोयला बनाने का संयंत्र

बता दें कि किसी जमाने में यह मात्र एक हॉल्ट हुआ करता था परंतु अब यह एक रेलवे स्टेशन नहीं अपितु एक रेलवे पोर्ट बन चुका है। जी हां, दो पैसेंजर ट्रेन के ठहराव वाले हाल्ट से बढ़कर पांच प्लेटफार्मों वाले स्टेशन से आगे बढ़ते ही गोमतीनगर विश्वस्तरीय रेलवे पोर्ट स्टेशन बन गया है। तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने गोमतीनगर हाल्ट को स्टेशन बनाने की योजना की नींव रखी थी। इसके अंतर्गत 4 नए प्लेटफॉर्म बनाए गए। हालांकि तत्पश्चात विभूतिखंड की ओर 6 नंबर प्लेटफार्म का भी निर्माण हो रहा है। और अब पीएम मोदी 26 फरवरी को ही अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत संवर रहे रेलवे स्टेशनों का लोकार्पण भी कर रहे हैं। और इसी के साथ ही गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का भी लोकार्पण कर रहे हैं।

GomtiNagar Railway Station
Gomti Nagar Railway Station

अधिक जानकारी हेतु बता दें कि आरएलडीए ने विभूति खंड की ओर से कामर्शियल ब्लॉक बनाकर उसे लीज पर बेचा है। इससे होने वाली आय से गोमतीनगर स्टेशन को भी बनाया गया है। इस स्टेशन का निर्माण 10 एकड़ क्षेत्रफल में किया गया है। स्टेशन की उत्तर दिशा की टर्मिनल बिल्डिंग भूतल के साथ दो तल की और दक्षिण टर्मिनल की बिल्डिंग भूतल के साथ एक तल की है। इसके अतिरिक्त 28 मीटर गुणे 85 मीटर का एयर कानकोर्स बनाया गया है।

Read Also
Varanasi को पहले Expressway का PM Narendra Modi की बड़ी सौगात

PM Modi की काशी में दिखा नया कारनामा

यहां मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी देने हेतु बता दें कि यहां पर वेटिंग रूम, कैफेटेरिया, लाउंज की सुविधा भी है। नए टर्मिनल पर 14 लिफ्ट और 13 एक्सेलेटर यात्रियों के लिए हैं। सूर्य के प्रकाश से स्टेशन बिल्डिंग प्रकाशित हो रही है। वहीं यात्रा के साथ खरीदारी का आनंद उठाने के लिए गोमतीनगर स्टेशन पर आरएलडीए ने चार लाख वर्गफिट क्षेत्रफल में दो कामर्शियल ब्लाक भी विकसित किए हैं। जिनकी भी मुख्य संरचना का कार्य पूर्ण हो चुका है।

हर ब्लॉक में डबल बेसमेंट के साथ भूतल और चार मंजिला निर्माण किया गया है। कामर्शियल ब्लॉक में 12 लिफ्ट और आठ एस्केलेटर हैं। लगभग 29 हजार वर्गमीटर की डबल बेसमेंट की पार्किंग की व्यवस्था की गई है।

Gomti Nagar Railway Station
Gomti Nagar Railway Station

बता दें कि अब गोमती नगर रेलवे स्टेशन एक बड़े स्टेशन के रुप में पहचाना जायेगा। जहां से विभिन्न स्थानों को जोड़ने वाली ट्रेनों का संचालन होगा। तथा स्टेशन परिसर में कॉम्प्लेक्स के निर्माण के साथ एयर कॉनकोर्स भी है। सभी प्लैटफॉर्म को जोड़ने वाला यह एयर कॉनकोर्स लगभग 280 फुट लंबा है। रेलवे लैंड डिवेलपमेंट अथॉरिटी (आरएलडीए) ने इसके लिए प्लैटफॉर्म नंबर तीन को एक महीने ब्लॉक लिया था। तथा इसका निर्माण भी अब लगभग पूर्ण हो गया है।

यहां पर चारबाग के ही प्रकार से गोमतीनगर स्टेशन पर भी पुरानी बिल्डिंग की ओर रेल कोच रेस्तरां तैयार किया गया है। यही नहीं नगर निगम की कार्यकारिणी की बैठक में एक प्रस्ताव तैयार किया गया है। प्रस्ताव पास होते ही गोमतीगर रेलवे स्टेशन का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के नाम से हो जाएगा।

Gomti Nagar Railway Station
Gomti Nagar Railway Station

इससे पहले हजरतगंज चौराहे का नाम परिवर्तित कर अटल चौक किया गया था। इसकी क्रम में अब गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का नाम परिवर्तित कर अटलबिहारी के नाम से करने की योजना बनाई जा रही है।

यह भी बता दें कि गोमती नगर क्षेत्र एक अच्छी प्रकार से विकसित आवासीय और वाणिज्यिक क्षेत्र है। यह स्टेशन एक महत्वपूर्ण परिवहन केंद्र है, जो लखनऊ को देश भर के विभिन्न नगरों और कस्बों से जोड़ता है। यह उत्तर रेलवे नेटवर्क का भाग है और लखनऊ डिवीजन के अंतर्गत आता है।

Gomtinagar Railway Station Inauguration
Gomti Nagar Railway Station

लखनऊ में बीते कुछ वर्षों में व्यापक आधारभूत ढांचे का विकास देखा गया है, जिसमें सड़क नेटवर्क, फ्लाईओवर और पुलों का विस्तार सम्मिलित है। नगर ने लखनऊ मेट्रो जैसी आधुनिक परिवहन प्रणालियों का विकास भी देखा है, जिससे नगर के भीतर कनेक्टिविटी बढ़ी है। भारत सरकार के स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत लखनऊ को स्मार्ट नगरों में से एक के रूप में चुना गया है। इस पहल का उद्देश्य निवासियों के जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने और आधारभूत ढांचे और सेवाओं में सुधार के लिए प्रौद्योगिकी और नए तकनीक का उपयोग करना है।

Read Also
यूपी का ऐसा विकास जो आपके होश उड़ा देगा – Kanpur Metro

शुरू हुआ अयोध्या श्री राम मंदिर निर्माण कार्य का द्वितीय अध्याय

वहीं लखनऊ में मुख्य स्टेशन चारबाग़ पर यात्रियों का लोड कम करने के लिए केंद्र सरकार ने गोमती नगर स्टेशन विकसित कर लिया है। गोमती नगर रेलवे स्टेशन एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेनों सहित कई महत्वपूर्ण ट्रेनों के लिए एक प्रमुख पड़ाव के रूप में कार्य करेगा। यह दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, जयपुर, कानपुर और कई अन्य लोकप्रिय गंतव्यों के लिए कनेक्टिविटी प्रदान करता है। स्टेशन यात्रियों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आधारभूत सुविधाओं से सुसज्जित किया जा रहा है।

Gomti Nagar Railway Station
Gomti Nagar Railway Station

यही नहीं गोमती नगर रेलवे स्टेशन परिवहन के विभिन्न साधनों के माध्यम से लखनऊ के अन्य भागों से अच्छी प्रकार से जुड़ा हुआ है। गोमती नगर के भीतर और बाहर विभिन्न क्षेत्रों तक पहुँचने के लिए स्थानीय बसें, ऑटो-रिक्शा, टैक्सियाँ और सार्वजनिक और निजी परिवहन के अन्य साधन उपलब्ध हैं। गोमती नगर रेलवे स्टेशन की व्यावसायिक क्षेत्रों, शॉपिंग सेंटरों, होटलों और आवासीय परिसरों से निकटता इसे यात्रियों और आने-जाने वालों के लिए एक सुविधाजनक परिवहन विकल्प बनाती है।

मित्रों हम आशा करते हैं कि आपको गोमतीनगर रेलवे स्टेशन पुनर्विकास परियोजना की जानकारी पसंद आई होगी, तो कमेंट बाॅक्स में हर हर महादेव अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं।

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:-

video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *