बन रहा है वाराणसी का अपना रामपथ Sandaha Kachahari Fourlane Road

Sandaha Kachahari Fourlane Road : भारत की धर्म नगरी काशी जो कि विश्व की प्राचीनतम जीवित नगर है और हिंदूओं के आस्था का केंद्र भी है। वर्तमान समय में वाराणसी भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है और उन्होंने वाराणसी के ऐतिहासिक महत्व को समझते हुए काशी के कायाकल्प परिवर्तित करने का लक्ष्य रखा और जिसके अंतर्गत वाराणसी में कई योजनाओं के अन्तर्गत विकास कार्य गति पकड़े हुए है जैसे कि हृदय योजना, अमृत योजना, स्मार्ट सिटी योजना, प्रसाद योजना इत्यादि। जिन परियोजनाओं का मूल उद्देश्य एक है काशी नगरी की मूलभूत सुविधाओं में सुधार कर नगरवासीयों के जीवनशैली को सुदृढ कर विश्व स्तरीय बनाना।

Sandaha Kachahari Fourlane Road
Sandaha Kachahari Fourlane Road

Sandaha Kachahari Fourlane Road : जैसा कि हम सभी जानते हैं कि वाराणसी विश्व का सबसे पुराना जीवित नगर है, और यहाँ जनसंख्या का घनत्व भी किसी भी अन्य सामान्य नगर से कहीं अधिक है जो कि नगर में कई कठिनाइयों को भी उत्पन्न करता है उनमें से प्रमुख है नगर की यातायात व्यवस्था एवं ट्रैफिक जाम की समस्या जिसको कि वाराणसी के अति प्रिय सांसद एवं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने समझा एवं इसके निवारण के लिए सड़क चोड़ीकरण, रिंग रोड का निर्माण एवं शहर के मध्य के भागों में आवश्यकतानुसार मल्टिलेवल पार्किंगस् का निर्माण हुआ है।

और आज हम आपको इसी क्रम में वाराणसी में निर्माणाधीन लोक निर्माण विभाग के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक कचहरी चौराहे से लेकर संदहा तक बन रहे फोरलेन मार्ग के बारे में बताएंगे।

Read Also
G20 के बाद भारत का बड़ा स्ट्राइक, चीन पाकिस्तान हुए धुआं धुआं

सनातन को एकजुट करने वाला एकात्म धाम जनता को समर्पित – Statue of Oneness

बता दें की वाराणसी के वरुणापार क्षेत्र में सबसे अधिक काली मंदिर से पहडिय़ा चौराहे तक जाम लगता है। यहाँ पर 24 घंटे में 10 घंटे जाम की स्थिति बनी रहती है। जाम समाप्त करने के लिए पीडब्ल्यूडी कचहरी से संदहा तक 18 मीटर चौड़ा फोरलेन सड़क बना रही है।

परियोजना की अधिक जानकारी हेतु बता दें कि इसपर सर्वप्रथम जानकारी लगभग 3 वर्ष सामने आई थी और हमनें आपको अपनी वीडियो के माध्यम से विस्तृत जानकारी अप्रैल 2021 में दी थी। तथा परियोजना का शिलान्यास जुलाई 2022 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया था। तत्पश्चात अधिग्रहण व ध्वस्तीकरण से परियोजना का आरंभ हुआ। और लगभग 1.5 वर्ष अबतक बीत चुके हैं और परियोजना की वर्तमान परिस्थिति आपके समक्ष है।

Varanasi Sandaha Kachahari Fourlane Road
Sandaha Kachahari Fourlane Road

इस परियोजना की जानकारी के लिए बता दें की वाराणसी नगर को आने वाली प्रमुख तीन सड़कों का चौड़ीकरण होने के साथ अब आवागमन सुगम होने वाला है। यात्रीयों को जाम से मुक्ति मिलने के साथ समय और पैसा दोनों बचेगा। इन सड़कों पर नित्य जाम की स्थिति बनी रहती है। परंतु अब सड़कों के किनारे पाथ-वे और डिवाइडर पर हरियाली नजर आएगी।

बता दें की कचहरी से संदहा तक फोरलेन सड़क 18 मीटर चौड़ी होगी। यह सड़क सीधे रिंग रोड चौराहा (चिरईगांव ब्लाक) अर्थात गाजीपुर से सीधे जुड़ जाएगी। वहां से कचहरी पहुंचने में अब अधिक से अधिक 15 से 20 मिनट लगेंगे। इस मार्ग पर वाहनों का दबाव अधिक होने के कारण आए दिन जाम लगता है। यही कारण है कि इस 10 किलोमीटर की दूरी को तय करने में यात्रीयों को 40 से 45 मिनट तक लगता है, तथा यदि जाम में फंस गए तो कितना समय लगेगा कहा ही नहीं जा सकता है। तथा पहले यह सड़क 14 मीटर चौड़ी थी। जिसका आशय यह हुआ कि यह सड़क 4 मीटर और चौड़ी हो रही है अर्थात सड़क मध्य से दोनों ओर 2-2 मिटर तक यह सड़क विस्तारित हो रही है और जिसके आवश्यकतानुसार भूमि अधिग्रहण हुआ है।

Read Also
त्रेतायुगीन बन रहा है राम मंदिर दर्शन मार्ग – Ram Janmbhoomi Path Ayodhya

ऐसे होंगे अयोध्या में रामलला, श्री राम मंदिर की आई शुभ घड़ी

अधिक जानकारी के लिए बता दें की कचहरी से सारनाथ तक वीआइपी सड़क है। सारनाथ भगवान बुद्ध की प्रथम उपदेश स्थली होने के कारण यहां देसी-विदेशी पर्यटकों के आने का क्रम सदैव बना रहता है। वहीं, बौद्ध सर्किट को जोडऩे के लिए सारनाथ से बोध गया, लुबंनी और नेपाल तक सड़कों को बनाया जा रहा है। पहले चरण में रिंग रोड हरहुआ से चिरईगांव ब्लाक तक बनी हैं। यहीं पर गाजीपुर से आने वाली सड़क मिलती है। इसी चौराहे से चंदौली जिले को जोडऩे के लिए रिंग रोड फेज-थ्री भी पड़ता है।

सबसे महत्वपूर्ण यह है कि यह सभी सड़कों पर केवल सड़क का ही निर्माण नहीं हो रहा अपितु सड़क के मध्य में डेढ़ मीटर चौड़े डिवाइडर में आक्सीजन देने और सुंदर दिखने वाले पौधे लगाए जाएंगे। ऐसे पौधे लगाए जाएंगे जिसकी टहनी सड़क पर नहीं हो। वह चौड़े में फैलने की बजाय सीधे ऊपर जाए। इसके लिए वन विभाग से राय ली जाएगी।

Varamasi Kachahari Sandaha Fourlane Road
Varamasi Kachahari Sandaha Fourlane Road

इसके अतिरिक्त सड़क के किनारे स्ट्रीट लाइट होने से चालक को साफ दिखाई नहीं पड़ता है। इसलिए डिवाइडर पर ही स्ट्रीट लाइट लगेगी जिससे कि चालक को आराम होने के साथ दुर्घटना की संभावना कम होती है।

यही नहीं इस निर्माण में आधुनिकता भी होगी तथा इस सड़क को किसी कारण से खोदा ना जाए इसलिए यहाँ डक्ट में होंगे सभी केबल। और इसके लिए जैसा कि हम आपको राइड व्यू में दर्शा रहे हैं कि मार्ग के दोनों ओर बड़े बड़े डक्ट का निर्माण कार्य भी संचालित है। और उनकी वर्तमान परिस्थिति आपके समक्ष प्रस्तुत है।

Read Also
यूपी में हुआ एक और कारनामा, Solar Expressway Bundelkhand

राम मंदिर के साथ अयोध्या को मिलेगी बड़ी सौगात – Ayodhya Railway Station Redevelopment

बता दें की बिजली तथा नेटवर्क कंपनियों के सभी केबल डक्ट में होंगे। इसके लिए सड़क के किनारे डक्ट बनाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त नाला, पाथ-वे और यात्रियों के बैठने के लिए अलग से व्यवस्था होगी। यात्रियों के बैठने वाले स्थानों पर सड़क और चौड़ी होगी।

परियोजना लागत की जानकारी देने हेतु बता दें कि कचहरी से संदहा तक फोरलेन मार्ग का निर्माण जिसकी कुल लंबाई-9.325 किमी है और इसका निर्माण कुल 241.89 करोड़ रुपये से हो रहा है।

Varamasi Kachahari Sandaha Fourlane Road
Varamasi Kachahari Sandaha Fourlane Road

यही नहीं इस परियोजना में कुछ पेंच भी है जो आपको हम बता दें कि उत्तर प्रदेश को सुंदर बनाने का कार्य तीव्र गति से संचालित है। इसी को लेकर सड़कों का चौड़ीकरण किया जा रहा है। वाराणसी में भी विकास का यह कार्य संचालित है। यहां की सड़कों के चौड़ीकऱण में बाधा बन रहे नगर के लगभग 121 धार्मिक स्थलों को स्थानांतरित किया जाना है। इसके लिए आसपास के लोगों से सहमति बनाई जा गई है। वाराणसी में कई ऐसी सड़कें हैं, जहां किनारे या बीच में धार्मिक स्थल होने से यातायात प्रभावित होता है।

चौड़ीकरण के समयावधि में सड़क पर मंदिर और मजार पड़ रहे हैं। वाराणसी में अब सड़कों पर उपस्थित धार्मिक स्थलों को हटा सड़कों के चौड़ीकरण की प्रक्रिया आरंभ होने जा रही है। इसके लिए लोक निर्माण विभाग ने प्लान तैयार कर लिया है। इसके लिए बनारस नगर से 121 धार्मिक स्थल हटाए जाएंगे।

Read Also
Ram Mandir के साथ रामलला के दर्शन को सुगम बनाएगा Ayodhya International Airport

राम मंदिर के उद्घाटन से पहले बदल गया अयोध्या का नज़ारा

इसके अतिरिक्त यह भी बता दें कि इस परियोजना का एक पेंच न्यायालय में भी फसा हुआ है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने वाराणसी कचहरी से आशापुर होते हुए संदहा राजमार्ग चौड़ीकरण की सीमा में आने वाले याचियों के निर्माण ध्वस्तीकरण पर रोक लगा दी है और कहा है कि राज्य सरकार बिना अधिग्रहण किए अथवा याची के क्षतिपूर्ति लेने पर सहमत हुए बगैर निर्माण ध्वस्त नहीं करे।

महत्वपूर्ण है कि काशी में परिवहन सेवा को और बेहतर करने के लिए हाईवे व रिंग रोड से आने वाली छह सड़कों का चौड़ीकरण किया जा रहा है। इन सड़कों के बनने से जाम से मुक्ति मिलेगी। लोगों का पैसा और समय दोनों बचेगा।

Varanasi Ring Road
Varanasi Highway

इनमें चंदौली-प्रयागराज हाईवे से मोहनसराय से लहरतारा सिक्सलेन, कलेक्ट्री फार्म से रिंग रोड अकेलवा तक, लहरतारा से कीनाराम आश्रम वाया बीएचयू, पांडेयपुर से रिंग रोड, कचहरी से संदहा और पड़ाव से टेंगरा मोड़ तक फोरलेन सड़क बनाई जा रही है। जिनकी जानकारी हमारे चैनल पर उपलब्ध है।

मित्रों यदि आपको वीडियो में दी हुई वाराणसी सड़क चौड़ीकरण की जानकारी पसंद आई हो तो जय श्री राम कमेंट बाॅक्स में अवश्य लिखें एवं यदि कोई सुझाव हो वह भी बताएं, इसके अतिरिक्त यदि आप नए दर्शक हैं अथवा अभी आपने चैनल सब्सक्राइब नहीं किया है तो हमारे मनोबल में वृद्धि करने के लिए चैनल सब्सक्राइब अवश्य करें।

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:-

video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *