काशी विश्वनाथ कॉरिडोर उद्घाटन: दुनिया देखेगी ‘दिव्य और भव्य काशी’ का नजारा

काशीपुराधिपति के आंगन में बाबा के भक्तों के लिए हर रोज शाम सजाई जाएगी। काशी विश्वनाथ धाम में देशभर के कलाकार शीश नवाने के साथ ही शिव लीला भक्तों को सुनाएंगे। स्थानीय कलाकार भी बाबा के समक्ष हर दिन अपनी प्रस्तुति समर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों विश्वनाथ कॉरिडोर भक्तों को समर्पित होने के बाद आयोजन शुरू हो जाएंगे।

श्री काशी विश्वनाथ धाम के मंदिर चौक को सांस्कृतिक आयोजनों का प्रमुख केंद्र बनाया जाएगा। इसमें अनवरत देश के नामचीन कलाकारों के साथ स्थानीय कलाकार भी बाबा के चरणों में स्वरांजलि अर्पित करेंगे। धार्मिक, सांस्कृतिक और कलात्मक आयोजनों की वृहद शृंखला देश भर के श्रद्धालुओं को प्राचीन के साथ नवीन काशी का अहसास कराएगी।

काशी विश्वनाथ धाम
बाबा के भक्तों के लिए खास सुविधाओं को भी धाम में तैयार किया है। मंदिर चौक के पास बनाई गई गंगा व्यू गैलरी से बाबा विश्वनाथ की आराधना में भक्त जाह्नवी को साक्षी मान सकेंगे। यहां से एक तरफ गंगा और दूसरी तरफ काशी विश्वनाथ के दर्शन होंगे। मंदिर परिसर के चारों मुख्य द्वार पर भी शिव के रूपों के दर्शन कर पाएंगे। दरअसल, काशी विश्वनाथ में तैयार भवन अब भक्तों को गंगा स्नान से महादेव के दर्शन तक और उसके बाद भी सुविधाओं का अहसास कराएंगे।

विशेष मौकों पर नहीं लगेगी सड़क पर कतार
सावन सहित विशेष मौकों पर अब बाबा के भक्तों की कतार शहर की सड़कों पर नहीं दिखाई देगी। काशी विश्वनाथ धाम परिसर में बने मंदिर चौक और यात्री सुविधा केंद्रों में हजारों भक्त एक साथ शामिल हो सकते हैं। लोकार्पण के बाद कुंभ का पलट प्रवाह और उसके बाद महाशिवरात्रि पर मंदिर प्रशासन की पहली परीक्षा होगी। अब तक की व्यवस्था में विशेष अवसरों पर लक्सा और मैदागिन तक लंबी कतार लगती रही है।

काशी विश्वनाथ धामधाम परिसर में भक्त कर सकेंगे विश्राम
काशी विश्वनाथ धाम में आने वाले भक्तों को दर्शन पूजन के अलावा फूड कोर्ट, पुस्तकालय सहित अन्य सुविधाएं मिलेंगी। श्रद्धालुओं के लिए 18 कमरों का अतिथि गृह भी बनाया गया है। मंगला आरती में शामिल होने वाले भक्त यहां रात्रि विश्राम कर ब्रह्म मुहूर्त में आसानी से दर्शन कर सकेंगे। इसके साथ ही दो डोरमेट्री में भी 30 से ज्यादा भक्तों को ठहरने की व्यवस्था होगी।

काशी विश्वनाथ धामगैलरी में सहेजी गईं महादेव की स्मृतियां
काशी विश्वनाथ धाम में संग्रहालय भी बनाया गया है। इसमें सिटी गैलरी में वाराणसी की ऐतिहासिक धरोहरों को जगह दी जाएगी। जबकि वाराणसी गैलरी में अधिग्रहीत भवनों की चाबी, ऐतिहासिक व विशेष मूर्तियां जिन्हें खंडित होने के कारण स्थापित नहीं किया गया और पुराने भवनों के दरवाजे खिड़कियां आदि को सहेजा जाएगा। इसमें काशी विश्वनाथ मंदिर से काशी विश्वनाथ धाम तक की पूरी कहानी भी होगी।

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह को लेकर 12, 13 और 14 दिसंबर को भव्य उत्सव मनाने की तैयारी पूरी हो गई है. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन 13 दिसंबर को पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे. काशी में विराजमान शिव के धाम श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर के उद्घाटन समारोह को दीपावली और देव दीपावली की तर्ज पर भव्य तरीके से सेलिब्रेट किया जाएगा. इसको लेकर बुधवार को एक बड़ी बैठक कमिश्नर कार्यालय ऑडिटोरियम में हुई.

कॉरिडोर

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया डेढ़ माह तक चलने वाले महोत्सव में काशी के कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स, होटल्स, सरकारी भवनों में सबसे अच्छी सजावट करके पहला स्थान प्राप्त पाने वाले को 51,000, दूसरा स्थान पाने वाले को 21,000 और तीसरा स्थान पाने वाले को 11,000 की राशि मिलेगी. 13 दिसंबर के बाद घर-घर में काशी विश्वनाथ का प्रसाद और मंदिर के इतिहास की पुस्तिका वितरित की जाएगी.

सजावट के लिए मिलेंगे नकद पुरस्कार

पहला पुरस्कार:- 51,000

दूसरा पुरस्कार:- 21,000

तीसरा पुरस्कार:- 11,000

इस महोत्सव को पर्व की भांति मनाएं. हम सब मिलकर ऐसा माहौल बनाएं, जिससे काशी की अच्छी छवि यहां आने वालों को दिखे और दुनियाभर में ‘दिव्य काशी, भव्य काशी’ का संदेश जाए.

दीपक अग्रवाल, कमिश्नर

डेढ़ माह तक विभिन्न प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों, गवर्नरों के अलावा देश-विदेश के आम से लेकर खास लोगों का आगमन होगा. इसे देखते हुए ट्रैफिक कंट्रोल को बेहतर करना होगा. इसके लिए रूट डायवर्जन भी होगा.

कौशल राज शर्मा. डीएम

डीएम कौशल राज शर्मा ने कहा कि महोत्सव के लिए 12, 13 तथा 14 दिसंबर को दीपावली और देव दीपावली की तरह कई कार्यक्रम आयोजित होंगे. उन्होंने सरकारी कार्यालयों, विद्युत पोल, चौराहों, हाउसिंग सोसाइटी, कॉम्प्लेक्स, गंगा घाटों पर नावों को लाइट्स से सजाने और घरों में दीपक जलाकर उत्सव मनाने की बात कही. पूरे जिले में विशेष सफाई और स्वच्छता अभियान चलाकर शहर को स्वच्छ रखने के लिए अपील की गई. बैठक में पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश, नगर आयुक्त प्रणय सिंह ने संयुक्त रूप से केंद्र और राज्य सरकार के विभागीय अधिकारी, व्यापार मंडल, पार्षदगण, इंडस्ट्री, आईएमए, स्वयं सेवी संस्थाओं समेत अन्य को तैयारियों की जानकारी दी.

अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:

वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.